श्रीलंका में पुलिस की छापेमारी में 15 की मौत, 3 संदिग्ध आतंकवादी मारे गए

नेगोम्बो में आम कब्रों पर फूल चढ़ाता एक पुरोहित

श्रीलंका में पुलिस और संदिग्धों के बीच हुई मुठभेड़ में एक घर में 15 लोग मारे गए। पुलिस प्रवक्ता का कहना है मारे गए लोगों में से 3 संदिग्ध हैं। सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि संदिग्धों के छुपे होने की जानकारी के बाद पुलिस टीम कार्रवाई के लिए पहुंची, लेकिन आतंकियों की तरफ से गोलीबारी शुरू कर दी गई।
श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए आतंकी हमले को अंजाम देनेवाले हमलावरों के साथ मुठभेड़ में एक घर से 15 लोगों की लाश बरामद की गई है। इनमें से 3 संदिग्ध आतंकी हो सकते हैं। पुलिस का कहना है कि ऐसा लग रहा है कि कुछ आतंकियों ने खुद को विस्फोटकों की मदद से उड़ा लिया।श्रीलंका के ईस्ट कोस्ट इलाके में रात भर गोलीबारी चली। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि घर में आतंकियों के छुपे होने की सूचना के बाद पुलिस ने रेड की और आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी गोलीबारी में घर में मौजूद 15 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में 6 बच्चे भी शामिल हैं। 
सेना के एक प्रवक्ता ने मुठभेड़ की पुष्टि की। श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर हुई कई धमाकों में अब तक 250 से अधिक लोगों के मारे जाने की खबर है। सुरक्षा बलों और संदिग्ध दैश के आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुक्रवार को हुई थी। बाटिकालोओ शहर के दक्षिणी इलाके में हुई इस मुठभेड़ में संदिग्ध आतंकी मारे गए।
सैन्य प्रवक्ता सुमित अट्टापट्टू ने बताया, 'पुलिस जब आतंकियों के ठिकाने की ओर बढ़ रही थी, उस वक्त आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। तीन विस्फोटक धमाकों के साथ गोलीबारी की गई, जिसके जवाब में सुरक्षा बलों ने भी कार्रवाई की।' पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि मारे गए 15 लोगों में से 3 संदिग्ध आतंकी भी हैं। 
पुलिस टीम का कहना है कि संदिग्ध आतंकी नैशनल तौहीद जमात के सदस्य हैं और इस संगठन ने धमाकों की जिम्मेदारी ली है। सरकारी बयान के अनुसार, धमाकों को 9 बहुत पढ़े-लिखे और संपन्न परिवार से आनेवाले सदस्यों ने अंजाम दिया और इनमें एक महिला भी शामिल है।

Add new comment

10 + 3 =