कडुना सेमिनरी पर डाकुओं का हमला, 3 सेमिनरियों का अपहरण। 

बंदूकधारियों के एक समूह ने सोमवार को उत्तरी नाइजीरिया के कडुना में क्राइस्ट द किंग मेजर सेमिनरी पर हमला किया, जिसमें कई सेमिनरियों घायल हो गए और तीन का अपहरण कर लिया।
कथित तौर पर डाकुओं ने कफ़नचन धर्मप्रांत स्थित कडुना मेजर सेमनरी पर हमला किया और तीन सेमिनरी का अपहरण कर लिया। धर्मप्रांत ने मंगलवार को जारी एक बयान में इस घटना की घोषणा करते हुए कहा कि जेमा स्थानीय सरकार क्षेत्र के फदन कागोमा के फयित में स्थित क्राइस्ट द किंग मेजर सेमिनरी पर हमला सोमवार शाम को हुआ था।
बयान के अनुसार, सेंट अल्बर्ट संस्थान के भीतर सेमिनरियन रहते है जहां वे काथलिक पुरोहित बनने के लिए आवश्यक शिक्षा और प्रशिक्षण पाते हैं।
बयान में कहा गया है कि हमला 11 अक्टूबर को शाम 7:26 बजे सेमिनरी के प्रार्थनालय में हुआ था। हमले के समय, सेमिनरी और संस्थान के रेक्टर, 132 सेमिनरियन, 6 गैर-सेमिनेरियन, 1 महिला गैर-शैक्षणिक स्टाफ सदस्य और एक प्रबंधक सहित 10 प्रशिक्षक थे। हमले के दौरान छह सेमिनरियों को चोटें लगीं और उन्हें सैनिकों के संरक्षण में कफानचन के एक अस्पताल में भेजा गया, जहां उनका इलाज किया गया और उन्हें बाद छुट्टी दे दी गई।
मंगलवार को मिस्सा के बाद सिमिनरियों की गिनती करने से पता चला कि तीन सेमिनरियों का अपहरण कर लिया गया था। अपहृत सेमिनरियन दिव्य करुणा की प्रेरिताई एवं यूखरिस्त के नम्र सेवकों के धर्मसंघ के सदस्य हैं और सभी धर्मशास्त्र के चौथे वर्ष में अध्ययन करते हैं।
स्थानीय समाचार सूत्रों की रिपोर्ट में एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि पुलिस सामरिक और अपहरण विरोधी दस्तों की एक संयुक्त टीम ने डाकुओं को पकड़ने और अपहृत पीड़ितों को बचाने के उद्देश्य से एक तलाशी अभियान शुरू किया है।
धर्मप्रांत के चांसलर फादर इमैनुएल उचे ओकोलो  द्वारा हस्ताक्षरित बयान में कहा गया, "हम अपने अपहृत भाइयों की शीघ्र और सुरक्षित रिहाई के लिए प्रार्थना करते हुए आपकी निकटता चाहते हैं।" धर्मप्रांत ने संस्थान और सेमिनरी के शुभचिंतकों से "कानूनों को अपने हाथ में लेने से बचने" का आह्वान किया और कहा कि "हम उनकी त्वरित और सुरक्षित रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हर वैध साधन का उपयोग करेंगे।"
नाइजीरिया असुरक्षा के खिलाफ चल रही चुनौती का सामना कर रहा है। देश के उत्तर में, कडुना डाकुओं से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक है, जहां सुरक्षा एजेंसियों के प्रयासों के बावजूद सशस्त्र पुरुषों द्वारा हजारों लोगों की हत्या या अपहरण कर लिया गया है।
यह नवीनतम हमला नाइजीरिया के उत्तर में कुछ राज्यों के राज्यपालों द्वारा हाल ही में किए गए अधिक कड़े उपायों के बावजूद आया है। कडुना में, मोटरसाइकिलों द्वारा आवा-जाही पर प्रतिबंध लगा दिया गया है जो डाकुओं के परिवहन का पसंदीदा साधन है और डाकुओं की गतिविधियों में बाधा डालने के प्रयासों में दूरसंचार सेवाओं को बाधित कर दिया गया है।

Add new comment

2 + 15 =