गिरजाघर में हुए हमले के पीड़ितों के लिए संत पापा ने प्रार्थना की

बुर्किना फासो सुरक्षा

रविवार को बुर्किना फासो में एक प्रोटेस्टेंट गिरजाघर पर हमले में छः लोग मारे गए हैं। संत पापा फ्राँसिस ने दुःख व्यक्त करते हुए उन पीड़ितों और उनके परिवारों के लिए प्रार्थना की।
बुर्किना फासो देश के उत्तर में सथित सिल्गडजी में रविवार को एक प्रोटेस्टेंट चर्च पर हुए हमले में छः लोगों की मौत हो गई। सुरक्षा सूत्रों के अनुसार, रविवार की धर्मविधि समाप्त हो रही थी कि "अज्ञात सशस्त्र व्यक्ति" मोटरसाइकिल पर पहुंचे और पादरी पियरे ओइद्रोगो और उनके दो बेटों सहित छह लोगों को गोली मारकर हत्या कर दी गई।

संत पापा फ्राँसिस की संवेदना
वाटिकन प्रेस कार्यालय के अंतरिम निदेशक अलेसांद्रो जिस्सोती ने वाटिकन न्यूज़ को बताया, "संत पापा फ्राँसिस ने बुर्किना फासो के गिरजाघर पर हुए नए हमले की खबर को सुनकर बहुत दुःखी हुए" और वे पीड़ितों एवं उनके परिवारों और देश में पूरे ख्रीस्तीय समुदाय लिए प्रार्थना कर रहे हैं।”

सहिष्णुता से लेकर हिंसा तक
पश्चिम अफ्रीकी राष्ट्र बुर्किना फासो का इतिहास धार्मिक सहिष्णुता का रहा है और देश में पूजा स्थल पर इस तरह का पहला हमला है, जहाँ लगभग 60% आबादी मुस्लिम है और लगभग 25% ख्रीस्तीय है। हाल के महीनों में सांप्रदायिक हिंसा के प्रकरण बढ़े हैं। 2016 से, गांवों, स्कूलों और अस्पतालों पर सशस्त्र समूहों द्वारा 200 से अधिक हमलों ने हजारों लोगों को अपने घरों को छोड़ने के लिए मजबूर किया है। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है

Add new comment

17 + 0 =