टूलकिट क्या है?

दोस्तों जैसा की आप सभी ने टूलकिट शब्द को जरूर ही सुना होगा! आजकल यह शब्द बहुत ही चर्चा में है। टूलकिट शब्द का इस्तेमाल "औजारों के डिब्बे" के लिए होता है। मगर आजकल जिस टूलकिट के बारे में हम सुन रहे है असल में वह क्या होता है आइये जानते है।

टूलकिट किसी भी मुद्दे को समझाने के लिए बनाया गया दिशानिर्देशों का एक सेट है जो बताता है कि किसी विशेष लक्ष्य को कैसे पूरा किया जा सकता है। टूलकिट एक ऐसी कार्य योजना तैयार करता है जो विषय को समझाती है और इस विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सुझाए गए सुझावों का एक सेट प्रदान करती है। यह इस बात की जानकारी देता है कि किसी समस्या के समाधान के लिए क्या-क्या किया जाना चाहिए? यानी इसमें एक्शन प्वाइंट्स दर्ज होते हैं। इसे ही टूलकिट कहते हैं। इसका इस्तेमाल सोशल मीडिया के संदर्भ में होता है, जिसमें सोशल मीडिया पर कैम्पेन स्ट्रेटजी के अलावा वास्तविक रूप में सामूहिक प्रदर्शन या आंदोलन करने से जुड़ी जानकारी दी जाती है। इसमें किसी भी मुद्दे पर दर्ज याचिकाओं,  विरोध-प्रदर्शन और जनांदोलनों के बारे में जानकारी शामिल हो सकती है।

आमतौर पर, टूलकिट सोशल मीडिया अभियानों के लिए बनाए जाते हैं। इन टूलकिट में विभिन्न सामाजिक मीडिया वेबसाइटों के माध्यम से अभियान को बढ़ावा देने के बारे में जानकारी शामिल है।

यह सिर्फ प्रदर्शनकारियों द्वारा नहीं, बल्कि सरकारी संगठनों द्वारा भी किया जा रहा है। उदाहरण के लिए, भारत सरकार के उद्योग संवर्धन विभाग और आंतरिक व्यापार के पास एक टूलकिट है कि कैसे बौद्धिक संपदा अधिकारों को लागू किया जाए।

यंग एडल्ट लाइब्रेरी सर्विसेज एसोसिएशन, अमेरिकन एसोसिएशन का एक हिस्सा, एक 'टूलकिट क्रिएशन गाइड' अपलोड किया है। यह एक टूलकिट को "फ्रंट-लाइन स्टाफ के लिए आधिकारिक और अनुकूलनीय संसाधनों का एक संग्रह के रूप में परिभाषित करता है जो उन्हें एक मुद्दे के बारे में जानने और उन्हें संबोधित करने के लिए दृष्टिकोण की पहचान करने में सक्षम बनाता है"।

टूलकिट एक दस्तावेज है जो किसी भी संगठन द्वारा या किसी भी व्यक्ति द्वारा बनाया जा सकता है, और उस संगठन के भीतर के लोग आमतौर पर उस टूलकिट की सामग्री को सूचित कर सकते हैं। इस संदर्भ में, एक संगठन का मतलब विरोध, सोशल मीडिया अभियान या सरकार भी हो सकता है।

Add new comment

10 + 5 =